Author: jeetendra jitanshu

विमल मित्र का विमल मित्र होना बनाम साहब बीवी और गुलाम

हिंदी पाठकों के लिए विमल मित्र परिचित नाम है। हिंदी में बनी फिल्म ,साहब बीवी और गुलाम एक सफल फिल्म है। यह फिल्म गुरुदत्त की एक अच्छी फिल्म नाम से…

थाने में ससुराल जेल में घरु है,मोहे कौन ससुर को डरु है

21वीं सदी के आते ही इतिहास ने अपने आपको दोहराना शुरू कर दिया है। अब भले ही संदर्भ दूसरे हो यरवदा या सर आगा खां के महल से चीजें तिहाड़…

नरेंद्र सिंह गोरवा बने अखिल भारतीय क्षत्रिय सभा के पश्चिम बंगाल अध्यक्ष

कोलकाता ,अखिल भारतीय क्षत्रिय सभा के अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री आवगढ रियासत (डूंगर गढ़) के पूर्व महाराज राजा मानवेंद्र सिंह ने नरेंद्र सिंह गोरवा को सभा की पश्चिम बंगाल इकाई…

और अब प्रेमचंद के साहित्य में राष्ट्रीयता बनाम सांप्रदायिकता की तुलना

कुछ साल पहले सदीनामा प्रकाशन से एक पुस्तक प्रकाशित हुई थी इसका नाम था “दिनकर और राष्ट्रीयता के नए आयाम ” जिसका संपादन किया था मैने और संयोजन किया था…